Breaking News
Home / BANNER / ब्राम्हण व क्षत्रीय महासभा ने आरक्षण खत्म करने के लिये ज्ञापन

ब्राम्हण व क्षत्रीय महासभा ने आरक्षण खत्म करने के लिये ज्ञापन

ग्वालियर। अखिल भारतीय ब्राम्हण महासभा रा., क्षत्रीय महासभा, करणी सेना व अन्य सवर्ण समाज की विभिन्न ईकाईयों के द्वारा आरक्षण आर्थिक आधार पर व एससी/एसटी एक्ट को समाप्त अथवा संषोधन करने के लिये विश्वविद्यालय चौराहे पर एकत्रीकरण होकर विशाल प्रदर्शन के साथ एसडीएम मुरार को राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, तथा राज्यपाल के नाम  ज्ञापन सौपा गया।

ब्राह्मण महासभा के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व उप पुलिस अधीक्षक केडी सोनकिया ने बताया, कि विभिन्नता में एकता ही भारत की विशेषता है। विश्व के सबसे बड़े प्रजातांत्रिक देश होने के नाते भारत का संविधान प्रजातंत्र की आत्मा माना जाता है। परंतु 70 वर्षों से जारी जातिगत आरक्षण ने सवर्ण प्रतिभाओं में कुंठा, अवसाद और हताषा पैदा कर दी है। दूसरी ओर आरक्षण का लाभ लेते चले आ रहे है। आरक्षित वर्ग के गरीब और पिछड़े लोग आज भी वहीं के वही हैं।

इसी प्रकार से एससी/एसटी एक्ट का व्यापक दुरूपयोग देश में हो रहा है। इनके कारण सामाजिक सौहार्द नष्ट हो रहा है। इस संबंध में उचित कदम उठाया जाना आवश्यक है। इसके लिये आगे शांतिपूर्ण प्रदर्शन किये जायेंगे

आरक्षण का विरोध समय-समय पर अनेक संगठनों द्वारा किया जाता रहा है, जिसकी पीड़ा को सवर्ण समाज के द्वारा शासन को विरोध करके बताया गया। भारत सरकार के द्वारा भी 10 प्रतिशत आरक्षण आर्थिक आधार पर सामान्य वर्ग को दिया गया है, जबकि बाकी समाजों में आरक्षण को आर्थिक नहीं जातिगत आधार पर दिया जाता रहा है। जिसका सवर्ण समाज द्ववेश पूर्ण निर्णय मानते हैं।

इस प्रदर्शन व ज्ञापन कार्यक्रम में क्षत्रीय महासभा, करणी सेना व सवर्ण समाज के संगठनों की ओर से भी बराबर की भागीदारी दी गयी

About admin

Check Also

ग्वालियर में जन जागरण मंच के बैनर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ली सभा

ग्वालियर– नागरिकता संशोधन कानून को लोकसभा और राज्यसभा में पास कराने के बाद भाजपा अब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *