Breaking News
Home / BANNER / बाँदा में बन रही है आधुनिक गौशाला -राजाबाबू सिंह

बाँदा में बन रही है आधुनिक गौशाला -राजाबाबू सिंह

ग्वालियर– हिन्दुओ के करोड़ो देवी देवताओं की प्रतीक माने जाने वाली हमारी गौ माता का आजकल बहुत बुरा हाल है। गाय को पालने वाले लोग आजकल गायो को रोड किनारे या शहरों में छोड़ कर जा रहे है। शहर में गाय कूड़ा, कचड़ा, पोलोथिन में भरे सामान खाने के कारण  बीमार हो रही है। और इलाज न मिल पाने के कारण मर रही है। शहर में गौ शाालाओ का बुुरा हाल है। एक एक गौशालाओ हज़ारो गायो को ठूस ठूस के भरा जा है।

गॉव में गौचर जमीन को खत्म कर देने के कारण गाय फसलों को नुकसान पहुचाती है। ऐसे में गॉव वाले गाय को रोड किनारे छोड़ आते है  कई गाय रोज एक्सीडेंट के कारण मर जाती है ऐसे में जरूरत है। हर शहर हर गॉव में बड़ी बड़ी गौशाला बनने की। गौशाला बनने से किसानों को फसलों की बर्वादी और गायों के मरने से बचाया जा सकता है।

मध्य प्रदेश में पुलिस महानिदेशक के पद पर तैनात उत्तरप्रदेश बांदा जिले के तिंदवारी क्षेत्र में पचनेही गांव के मूल निवासी राजाबाबू सिंह ने कुरसेजा धाम में एक आधुनिक गोशाला बनवा रहे है। यह गोशाला बुंदेलखंड क्षेत्र के लिए मॉडल के रूप में होगी। इस गौशाला का निर्माण गुजरात और महाराष्ट्र में बनी गौशाला की तर्ज पर किया जा रहा है। आधुनिक सुविधाओं से लैस इस गोशाला की लागत लगभग एक करोड़ रुपये से अधिक है। इसमें तकरीबन 1000 गोवंशों को रहने के लिए स्थान मिलेगा।

गोशाला 25 बीघे में बन रही है। ढाई-ढाई बीघा के तीन मजबूत टिनशेड बन रहे हैं। एक हेक्टेयर का तालाब होगा। दो नलकूप लगेंगे। 3-4 बीघा में चारागाह बन रहा है। चारों तरफ चार मीटर ऊंची बांउड्री रहेगी। 200 क्विंटल भूसा रखने का स्टोर रूम, गायों को खिलाने के लिए पांच बड़ी चरही, गोबर गैस प्लांट और जैविक खाद वर्मी कंपोस्ट यूनिट बनाई जा रही है।

उन्नत नस्ल की 20 गायें रहेंगी
कुरसेजा धाम की आधुनिक गोशाला में गायों की नस्ल सुधार के लिए उन्नत नस्ल की 20 गायें भी रखी जाएगी।
गोशाला को 2020 में बसंत पंचमी पर शुरू किए जाने की तैयारियां जोर शोरो से चल रही हैं।

About admin

Check Also

ब्रमकुमारी शिवानी दीदी से कोरोना संकट पर ई-महामंच के जरिए खास चर्चा 19 मई शाम 6 बजे

रायपुर- प्रदेश के विश्वसनीय न्यूज चैनल IBC24 वैश्विक संकट कोरोना को लेकर एक बड़ा संवाद …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *